नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9939870087. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
BreakingHeadlineबिज़नस

Paytm ने आम आदमी से लेकर बड़े अमीरों को दिया जोर का झटका; जानें क्या हुआ?

नई दिल्‍ली।  पेटीएम (Paytm) की पैरेंट कंपनी कंपनी वन 97 कम्युनिकेशन्स (One97 Communications) के शेयरों का गोता लगाने का सिलसिला मंगलवार को भी जारी रहा और कंपनी का शेयर रिकॉर्ड लो पर पहुंच गया।

इसे भी पढ़ें- ब्रेकिंग : चारा घोटाला मामले में लालू सहित 75 आराेपित दोषी करार

इसे भी पढ़ें- Valentine Day Special : रील लाइफ से रियल लाइफ तक कुछ ऐसी है इन सितारों की लव स्टोरी

इसे भी देखें- मौत की कुश्ती: पहलवान का एक दांव और सामने वाली की तुरंत हुई मौत

इसे भी पढ़ें – बॉलीवुड में अधूरी रही इन हस्तियों की प्रेम कहानी

इसे भी पढ़ें- सावधान! जल्द लौटा दे अपने दोस्त के पैसे वरना हो सकता है ये अंजाम?

इसे भी पढ़ें- जरूरी खबर: प्लास्टिक से बने चम्मच, गिलास से लेकर झंडे-ईयरबड तक सब बैन

इसे भी पढ़ें- झारखंड में 16 से फिर दिखा मौसम में बदलाव, एक हफ्ते तक बारिश के आसार; इन इलाकों में दिखेगा असर

अब तक पेटीएम का शेयर (Paytm Share Price) अपने इश्‍यू प्राइस से करीब 58 फीसदी नीचे जा चुका है. इश्यू प्राइस 2150 रुपये था, जबकि मंगलवार को यह इंट्राडे में 840.05 रुपये तक पहुंच गया और फिर 851.25 रुपए पर बंद हुआ.

गोल्‍डमैन सॉक्‍स (Goldman Sachs) और मैक्वायरी सिक्योरिटीज इंडिया (Macquarie Securities India) जैसी ब्रोकरेज फर्म्‍स ने भी अब इस शेयर का टारगेट प्राइस घटा दिया है.

पेटीएम के शेयर में नुकसान झेलने वालों में केवल रिटेल निवेशक ही नहीं है, बल्कि कुछ बड़े निवेशकों को भी इस शेयर ने मंदी का दंश दिया है. इनमें दुनिया के दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffett) भी शामिल हैं. इनके अलावा Antfin (नीदरलैंड) होल्डिंग BV और SVF Panther (Cayman) जैसे विदेशी निवेशकों को भी तगड़ा नुकसान पेटीएम के शेयरों में गिरावट से हो चुका है.

बफे की कंपनी के पास 2.41 फीसदी हिस्सेदारी
पेटीएम के रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के मुताबिक, बफे की कंपनी Berkshire Hathaway ने 1,279.7 रुपये के भाव पर शेयर खरीदे थे. इस तरह बफे को करीब 35 फीसदी नुकसान हो चुका है. सितंबर, 2018 में बर्कशायर ने पेटीएम में 2,179 करोड़ रुपये का निवेश किया था और इसके लिए उन्हें 2.6 फीसदी हिस्सेदारी मिली थी. कंपनी के ताजा शेयरहोल्डिंग डेटा के मुताबिक 31 दिसंबर, 2021 तक बफे की निवेश कंपनी की पेटीएम में 2.41 फीसदी हिस्सेदारी थी.

इश्यू प्राइस को भी छू नहीं पाया
करीब 3 महीने बाद भी Paytm का शेयर अपने इश्यू प्राइस के स्तर को छू नहीं पाया है. खास बात यह है कि इश्यू प्राइस के स्तर पर जाने की निवेशकों की उम्मीद हर दिन टूट ही रही है. हाल ही में एचडीएफसी म्यूचुअल फंड (HDFC Mutual fund ) ने भी अपनी हिस्सेदारी पेटीएम से घटा दी है.

 

ब्रोकरेज फर्म्‍स का भी डोल रहा विश्‍वास
ब्रोकरेज फर्म गोल्‍डमैन सॉक्‍स (Goldman Sachs) ने हाल ही में पेटीएम के शेयर का टारगेट प्राइस घटा दिया है. ऐसा वह लगातार कर रही है. पहले ब्रोकरेज हाउस ने इसका टारगेट प्राइस 1,630 रुपए दिया था जिसे घटाकर पहले 1,600 रुपए कर दिया और अब इसे और कम करके 1,460 रुपए कर दिया है. हालांकि गोल्‍डमैन सॉक्‍स ने पेटीएम शेयर की रेटिंग को अपग्रेड करते हुए बाय कर दी है. दूसरी ओर Macquarie Capital Securities (India) Ltd के एनालिस्ट्स ने पेटीएम के शेयर का टारगेट प्राइस 900 रुपये से घटाकर 700 रुपये कर दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button