नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9709180001. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
BreakingHeadlineदेशलाइफस्टाइल

अब नहीं होगा एक भी ट्रेन हादसा, जानें क्या खजाना लगा हाथ

नई दिल्‍ली।  देश में रेलयात्रा अब ज्‍यादा सुरक्षित होगी. रेलवे (Indian Railways) ने अब ट्रेन एक्सिडेंट (Train Accident) रोकने के लिए एडवांस्‍ड सिग्‍नलिंग सिस्‍टम ‘कवच’ (Kavach) लगाने का फैसला किया है. सबसे पहले पूर्व मध्य रेलवे (ECR) अपनी कुछ रेलवे लाइनों पर इसे लगाएगा. वर्ष 2022-23 में 2,000 किमी नेटवर्क में सुरक्षा के लिए इस स्‍वदेशी तकनीक (Kavach Technology) को लगाया जाएगा.

ECR के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) वीरेंद्र कुमार ने कहा कि यह प्रणाली पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन (Pt. Deen Dayal Upadhyaya Junction) गया (Gaya) धनबाद (Dhanbad) ग्रैंड कॉर्ड रूट पर इसे लगाने के लिए 151 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत का टेंडर जारी किया गया है.

 

व्यस्ततम रेलवे मार्ग से शुरूआत

एक रिपोर्ट के अनुसार 408 किलोमीटर लंबा पं दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन-गया-धनबाद ग्रैंड कॉर्ड मार्ग हमारे देश में 77 स्टेशन और 79 लेवल क्रॉसिंग फाटकों को कवर करने वाला एक महत्वपूर्ण और व्यस्ततम रेलवे मार्ग है. डिवीजन ने इस रूट पर 130 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेन चलाने की अनुमति दी है. इसी रूट पर कवच को सबसे पहले लगाया जाएगा.

 

क्या है ‘कवच’? (What is Kavach system )
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) वीरेंद्र कुमार बताया कि कवच एक टक्कर रोधी तकनीक (Train collision Avoidance system- TCAS) है. TCAS माइक्रो प्रोसेसिंग, ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम और रेडियो कम्युनिकेशन पर काम करता है. डिवाइस को पूरे रूट पर स्थित स्टेशनों से सीधे रेडियो सिस्टम के माध्यम से जोड़ने वाले इंजनों के केबिन के अंदर स्थापित किया जाएगा.डिवाइस में इनबिल्ट ऑटोमैटिक ब्रेक सिस्टम है जो सेंसर के जरिए पैसेंजर ट्रेनों के आगे या पीछे की टक्कर की संभावनाओं को जांचता है.

 

कैसे करेगा काम? (how will Kavach work)
भारतीय रेल द्वारा पूर्ण रूप से स्वदेशी प्रणाली TCAS (Train collision Avoidance system) विकसित की गई है. यह सिस्‍टम रेड सिग्‍लन होने पर रेल को गुजरने नहीं देगा. ओवर स्‍पीड से रेल चलाने पर भी यह अंकुश लगाएगा और ट्रेनों के आमने-सामने की टक्‍क्‍र को यह रोकेगा, क्‍योंकि यह पहले ही पता लगा लेगा कि पटरी पर कोई ट्रेन या जा तो नहीं रही है. यह पटरियों और रेलगाड़ी की स्थिति की लगातार अपडेट देता रहता है. अगर आपात स्थिति में ट्रेन का चालक दल ब्रेक नहीं लगा पाता है तो कवच सिस्‍टम ऑटोमैटिक ब्रेक लगा देगा.

इसे भी पढ़ें- Big news : लालू यादव को 5 साल कैद की सजा और 60 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया

SBI कस्टमर्स फटाफट निपटाएं ये काम, वरना रुक सकते हैं बैंक से जुड़े कामकाज!

CBSE-ICSE और स्टेट बोर्ड की 10वीं और 12वीं की फिजिकल परीक्षाएं रद्द…

दुनिया में आ रही कोरोना जैसी एक और महामारी, बिल गेट्स की चेतावनी ने बढ़ाई टेंशन

कभी 6 अंकों का होता था ATM का पिन, फिर क्यों घटाकर कर दिए गए 4 नंबर ?

झारखंड में जारी हुआ येलो अलर्ट, आने वाले इन दो दिनों में होगी बारिश

जरूरी खबर- 28 फरवरी से पहले कर ले ये काम वरना होगी बड़ी परेशानी

आम आदमी को लगने वाला है बड़ा झटका, भारत में Petrol Diesel 5-6 रुपये लीटर महंगा!

DJ हुआ बंद तो घोड़ी पर बैठ कर थाने पहुंचा दूल्हा और पूरी बारात इसके बाद…

23 से 27 फरवरी तक सितारों का उलटफेर, शनि समेत 4 ग्रह बदलेंगे राशि, जानें-किन राशि पर भारी रहेगी ग्रहों की चाल

Tata-Birla नहीं, ये है हिंदुस्तान की सबसे पुरानी कंपनी, जहाज बनाने से शुरुआत

Paytm ने आम आदमी से लेकर बड़े अमीरों को दिया जोर का झटका; जानें क्या हुआ?

17 फरवरी से शुरू फाल्गुन माह, देखें व्रत-त्योहार की लिस्ट

Smartphone से लेकर Refrigerator तक, जानिए 1 अप्रैल से क्या होगा सस्ता और महंगा

रिश्वत लेने के आरोपी सब इंस्पेक्टर को पकड़ने 1 KM तक दौड़ी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button