नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9939870087. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
BreakingHeadlineदेश

रूस-यूक्रेन के जंग के कारण धर्म संकट में भारत, प्रधानमंत्री मोदी करने वालें है अहम बैठक

PM Modi on russia ukraine war: यूक्रेन के साथ जारी गतिरोध के बीच रूस ने हमला कर दिया है. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सैन्य कार्रवाई की औपचारिक घोषणा की है. रूसी सेना ने तबाही मचाना शुरू किया तो यूक्रेन का मंजर पूरी तरह से बदल गया. इस बीच भारत में यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलिखा ने पीएम नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की गुजारिश की है.

स्टूडेंट्स को लगा झटका, नहीं रद्द होंगी CBSE-ICSE और स्टेट बोर्ड की 10वीं और 12वीं की फिजिकल परीक्षाएं

‘अजीब स्थिति में है भारत’

इसको लेकर रक्षा विशेषज्ञ मेजर जनरल एसवीपी सिंह ने आजतक से बातचीत में कहा, भारत इस समय बहुत अजीब स्थिति में है क्योंकि हमारे रिश्ते अमेरिका, यूक्रेन और रूस के साथ महत्वपूर्ण हैं. सबसे पहले रूस की बात करें तो वह हमारा टाइम टेस्टेड फ्रेंड रहा है, एस 400 मिसाइल उसने हमें दी है. तो उसे हमें ध्यान में रखना है. यूक्रेन के साथ भी हमारे हमेशा से अच्छे रिश्ते रहे हैं और वो हमारा डिफेंस सप्लायर रहा है. वहीं अमेरिका के साथ हम उनके स्ट्रेटेजिक पार्टनर हैं.

‘यूक्रेन को बनाया गया बलि का बकरा’

उन्होंने आगे कहा कि अब यूक्रेन के राजदूत ने हमसे मदद मांगी है तो हम रूस से यही कह सकते हैं कि जहां तक हो सके समझौता हो. इसके अलावा हम यूक्रेन को समझाएंगे कि अमेरिका हो या नाटो देश हों, इस सभी ने ही आपको बलि का बकरा बनाया है.

‘भारत ही समझाए रूस को’

बता दें कि आज ही यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलिखा ने पीएम मोदी से इस पूरे मामले में हस्तक्षेप की गुजारिश करते हुए कहा था कि भारत और रूस के संबंध अच्छे हैं. नई दिल्ली (भारत) यूक्रेन-रूस विवाद को कंट्रोल करने में अहम योगदान दे सकता है. इगोर पोलिखा ने कहा कि हम पीएम नरेंद्र मोदी से गुजारिश करते हैं कि वह तत्काल रूस के राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति जेलेंस्की से संपर्क करें.

धर्म संकट में भारत

बताते चलें कि चूंकि भारत, अमेरिका और रूस दोनों के करीब है. अमेरिका चाहता है कि भारत उसका समर्थन करे लेकिन भारत की रणनीतिक साझेदारी रूस के साथ बहुत अधिक है. रक्षा उपकरणों को लेकर रूस पर भारत की निर्भरता बनी हुई है. इधर, चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच भी भारत के लिए रूस का समर्थन जरूरी है. ऐसे में भारत के लिए किसी एक का पक्ष लेना बेहद मुश्किल होगा. भारत ने अभी तक इस मसले पर निष्पक्ष रूख अपनाया है.

पीएम मोदी करेंगे बड़ी बैठक

हालांकि अब खबर है कि मामले को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी एक बड़ी बैठक करने वाले हैं जिसमें एनएसएस अजीत डोभाल और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल होंगे. यहां यूक्रेन की मदद से लेकर वहां से 18 हजार भारतीयों को वापस लाने की कोशिश पर चर्चा हो सकती है।

‘धोनी के संन्‍यास लेने तक सिर्फ कवर के रूप में मुझे इस्‍तेमाल किया गया’, क्रिकेटर ने लगाए गंभीर आरोप

LPG Price Hike: महंगा हो जाएगा खाना पकाना, दोगुनी होने वाली है रसोई गैस की कीमत; जानें कितनी बढ़ेगी कीमत

हर हफ्ते करें इन 6 चीजों का सेवन, तेजी से कम होगा वजन

फ्रिज में रखा रेस्टोरेंट का खाना खाने के बाद हुआ बीमार, काटने पड़े पैर, आप भी रहें सतर्क!

SBI कस्टमर्स फटाफट निपटाएं ये काम, वरना रुक सकते हैं बैंक से जुड़े कामकाज!

CBSE-ICSE और स्टेट बोर्ड की 10वीं और 12वीं की फिजिकल परीक्षाएं रद्द…

दुनिया में आ रही कोरोना जैसी एक और महामारी, बिल गेट्स की चेतावनी ने बढ़ाई टेंशन

कभी 6 अंकों का होता था ATM का पिन, फिर क्यों घटाकर कर दिए गए 4 नंबर ?

झारखंड में जारी हुआ येलो अलर्ट, आने वाले इन दो दिनों में होगी बारिश

जरूरी खबर- 28 फरवरी से पहले कर ले ये काम वरना होगी बड़ी परेशानी

आम आदमी को लगने वाला है बड़ा झटका, भारत में Petrol Diesel 5-6 रुपये लीटर महंगा!

DJ हुआ बंद तो घोड़ी पर बैठ कर थाने पहुंचा दूल्हा और पूरी बारात इसके बाद…

23 से 27 फरवरी तक सितारों का उलटफेर, शनि समेत 4 ग्रह बदलेंगे राशि, जानें-किन राशि पर भारी रहेगी ग्रहों की चाल

Tata-Birla नहीं, ये है हिंदुस्तान की सबसे पुरानी कंपनी, जहाज बनाने से शुरुआत

Paytm ने आम आदमी से लेकर बड़े अमीरों को दिया जोर का झटका; जानें क्या हुआ?

17 फरवरी से शुरू फाल्गुन माह, देखें व्रत-त्योहार की लिस्ट

Smartphone से लेकर Refrigerator तक, जानिए 1 अप्रैल से क्या होगा सस्ता और महंगा

रिश्वत लेने के आरोपी सब इंस्पेक्टर को पकड़ने 1 KM तक दौड़ी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button