नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9709180001. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
BreakingHeadlineदेश

पिता ने गेम खेलने के लिए नहीं दिया मोबाइल, नाराज बच्चे ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

जयपुर, 18 फरवरी (स्वदेश टुडे)। आज कल गेम खेलने का बुखार सबके सर पर चढ़ा हुआ है। इसमें बच्चों से लेकर बूढ़े तक सभी गेम के दीवाने होते जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें – महंगाई से निकल रही आम आदमी की जान! फिर से बढ़े सर्फ-साबुन के दाम 

इसे भी पढ़ें – ‘हेमामालिनी’ की कीटनाशक पीने से मौत

इसे भी पढ़ें – बिग अलर्ट: झारखंड में इन इलाकों में शुरू होने वाली है बारिश, पढ़ें लिस्ट

इसे भी पढ़ें- आम आदमी को लगने वाला है बड़ा झटका, भारत में Petrol Diesel 5-6 रुपये लीटर महंगा!

इसे भी पढ़ें-DJ हुआ बंद तो घोड़ी पर बैठ कर थाने पहुंचा दूल्हा और पूरी बारात इसके बाद…

इसे भी पढ़ें-23 से 27 फरवरी तक सितारों का उलटफेर, शनि समेत 4 ग्रह बदलेंगे राशि, जानें-किन राशि पर भारी रहेगी ग्रहों की चाल

इसे भी पढ़ें-Tata-Birla नहीं, ये है हिंदुस्तान की सबसे पुरानी कंपनी, जहाज बनाने से शुरुआत

इसे भी पढ़ें-Paytm ने आम आदमी से लेकर बड़े अमीरों को दिया जोर का झटका; जानें क्या हुआ?

इसे भी पढ़ें-17 फरवरी से शुरू फाल्गुन माह, देखें व्रत-त्योहार की लिस्ट

इसे भी पढ़ें-Smartphone से लेकर Refrigerator तक, जानिए 1 अप्रैल से क्या होगा सस्ता और महंगा

इसे भी देखें- रिश्वत लेने के आरोपी सब इंस्पेक्टर को पकड़ने 1 KM तक दौड़ी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम

इसे भी पढ़ें- ‘पापा आप के राज में कोई खुश नहीं रह सकता’…. लिख 11वीं मंजिल से कूदी फैशन डिजाइनर

 

लेकिन कभी-कभी ये गेम किसी की जान ले लेता है। हालांकि इसमें गेम की उतनी कोई गलती नहीं होती, क्योंकि ये घर के परिजन और उस इंसान के ऊपर होता है कि वह गेम को कितना समय दे रहा है। आमतौर पर छोटे बच्चों को फोन से दूर रखना चाहिए और उन्हें सिर्फ कम ही समय के लिए फोन का इस्तेमाल करने के लिए देना चाहिए। क्योंकि इससे बच्चे हिंसक स्वभाव के हो जाते हैं।

ऐसा ही एक मामला सामने आया है, सोडाला थाना इलाके में उस समय हडकंम मच गया जब 12वीं क्लास के छात्र ने BGMI खेलने के लिए मोबाइल नहीं दिलाने पर नाराज होकर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों के हवाले कर दिया।

थानाधिकारी सतपाल सिंह ने बताया कि थाना इलाके के सीताराम कॉलोनी में रहने वाले आदित्य कुमार (18) पुत्र विजय सिंह ने साड़ी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस की प्राम्भिक जांच पड़ताल में सामने आया कि मृतक के पिता विजय सिंह रात करीब दो बजे उठे तो आदित्य के कमरे की लाइट जली देखी और फिर कमरे में झांक कर देखा तो आदित्य फंदे पर लटका दिखाई दिया।

उसके बाद परिजनों ने कमरे का दरवाजा तोड़कर आदित्य को एसएमएस अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने आदित्य को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर पुलिस पहुंची और शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंपा। पुलिस की प्रारंभिक जांच में मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

आदित्य अपने दादा के मोबाइल पर घंटों BGMI खेलता था

मृतक आदित्य का 13 फरवरी को बर्थडे था, जिसने बर्थडे पर अपने परिजनों से मोबाइल मांगा था। परिजनों ने 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद मोबाइल दिलाने का वादा किया। बर्थडे पर मोबाइल नहीं मिलने के बाद से ही आदित्य गुमसुम रहने लगा था। जिसके बाद रात को खाना खाकर आदित्य अपने रूम में सोने के लिए चला गया था। देर रात आदित्य ने अपने रूम में मां की साडी से फांसी का फंदा बनाया और पंखे पर झूल गया। मृतक आदित्य पढने में होशियार था। आदित्य अपने दादा के मोबाइल से ऑनलाइन क्लास लेता था और उसके बाद घंटों  गेम खेलता था।  खेलने पर परिवार के सदस्य आदित्य को आए दिन टोंकते थे।  गेम खेलने के जुनून के चलते पिता ने उसे बर्थडे पर मोबाइल नहीं दिलाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button