नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9939870087. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
बॉलीवुड

बॉलीवुड की पहली 100 करोड़ी फिल्म से जुड़े फैक्ट्स, जो विदेश में भी 75 सप्ताह तक चली थी

बॉलीवुड डेस्क. राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म ‘हम आपके हैं कौन’ की रिलीज को 25 साल हो गए हैं। यह 5 अगस्त 1994 को रिलीज हुई थी। सूरज बड़जात्या के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में सलमान खान, माधुरी दीक्षित, मोहनीश बहल, रेणुका शहाणे, अनुपम खेर, आलोक नाथ, रीमा लागू और लक्ष्मीकांत बेर्डे की अहम भूमिका थी।

फिल्म से जुड़ी कुछ रोचक बातें
प्रभावित होकर फिल्ममेकर बने करन जौहर
करन जौहर ने एक इंटरव्यू में कहा था, “‘हम आपके हैं कौन’ देखने के बाद मैंने महसूस किया कि भारतीय सिनेमा मूल्यों, परंपराओं, सूक्ष्मता और रोमांस के बारे में है। इसमें बहुत कुछ समाया है। यह फिल्म देखने के बाद मुझे मेरे सभी सवालों का जवाब मिल गया। मैंने आगे बढ़ने और फिल्ममेकर बनने का फैसला कर लिया।”

लिबर्टी सिनेमा में 125 सप्ताह तक चली
‘हम आपके हैं कौन’ का प्रीमियर साउथ मुंबई के लिबर्टी सिनेमा में हुआ था और वहां यह 125 सप्ताह तक चली थी। कहा जाता है कि इस दौरान सिर्फ इस एक सिनेमा हॉल में फिल्म देखने वाली ऑडियंस की संख्या करीब 20 लाख थी।

तेलुगु, तमिल में भी हुई थी डब
फिल्म तेलुगु में ‘प्रेमाल्यम’ नाम से रिलीज हुई थी और सिनेमाघरों में करीब 100 दिन तक लगी रही थी। तमिल में यह ‘अम्बालयम’ नाम से डब हुई थी और सफलतापूर्वक चली थी।

लंदन के थिएटर में 50 सप्ताह चली
लंदन के वेलव्यू थिएटर में ‘हम आपके हैं कौन’ 50 सप्ताह तक लगी रही थी। थिएटर को तीन सप्ताह के लिए बुक किया गया था, क्योंकि उसके बाद उसका कायाकल्प होने वाला था। लेकिन मूवी के कलेक्शन को देखते हुए थिएटर का रेनोबेशन टाल दिया गया था।

टोरंटो में भी बनाया था रिकॉर्ड
टोरंटो के अल्वाइन सिनेमा में ‘हम आपके हैं कौन’ 75 सप्ताह तक चली थी, जो रिकॉर्ड है। बड़ी-बड़ी हॉलीवुड फिल्में भी इतनी नहीं चलतीं। टोरंटो में फिल्म को सुपर-डुपरहिट करार दिया था।

डायरेक्टर सूरज बड़जात्या पहले निशा के रोल के लिए नई हीरोइन की तलाश करना चाहते थे। फिर उन्हें अहसास हुआ कि यह किरदार किसी अनुभवी एक्ट्रेस को करना चाहिए। क्योंकि फिल्म के आखिरी कुछ सीन्स में निशा की बड़ी बहन की मौत हो जाती है और उसे अपने प्यार से समझौता कर बहन के बच्चे की मां बनने के लिए कहा जाता है। सूरज ने माधुरी की डेब्यू फिल्म ‘अबोध’ (1984) में डायरेक्टर हितेन नाग को असिस्ट किया था और एक्ट्रेस का काम देखा था। यही वजह है कि उन्होंने निशा के रोल के लिए माधुरी को चुना।

स्क्रिप्ट रेडी कर माधुरी को किया अप्रोच
माधुरी ने इंटरव्यू में बताया था, “सूरज ने स्क्रिप्ट रेडी होने के बाद मुझे अप्रोच किया था। 3 घंटे 15 मिनट तक वो मुझे स्क्रिप्ट सुनाते रहे। यहां तक कि उन्होंने मेरे लिए गाने भी बजाए और वो सॉन्ग्स भी गाकर सुनाए, जो रिकॉर्ड होने बाकी थे।” फिल्म का रनिंग टाइम करीब 223 मिनट का था और इसमें 14 गाने थे। रिपोर्ट्स की मानें तो माधुरी को इसके लिए करीब 2.75 करोड़ रुपए फीस के रूप में मिले थे।

एम.एफ हुसैन ने 70 बार देखी थी फिल्म
मशहूर पेंटर मकबूल फिदा हुसैन ने एक बार यह स्वीकार किया था कि उन्होंने ‘हम आपके हैं कौन’ 70 बार देखी थी। इसी फिल्म के बाद वो माधुरी पर फिदा हो गए थे और उनकी कई पेंटिंग्स बना डाली थीं। इतना ही नहीं उन्होंने अपनी फिल्म ‘गज गामिनी’ में माधुरी को डायरेक्ट भी किया था।

100 करोड़ कमाने वाली पहली फिल्म
‘हम आपके हैं कौन’ बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपए कमाने वाली पहली हिंदी फिल्म है। यह कमाई फिल्म ने दुनियाभर से की थी। 1975 में रिलीज हुई ‘शोले’ का रिकॉर्ड तोड़ते हुए यह बॉलीवुड की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी साबित हुई थी।

दूसरी ‘मैंने प्यार किया’ की प्लानिंग में थे सूरज
सूरज बड़जात्या ने 1989 में ‘मैंने प्यार किया’ से डायरेक्शन में कदम रखा, जो सुपरहिट साबित हुई थी। वो इसी के जैसी दूसरी फिल्म भी बनाना चाहते थे। करीब 5 महीने तक वो इसी जद्दोजहद में लगे रहे। फिर उनके पिता ने सलाह दी कि उन्हें राजश्री प्रोडक्शन की किसी और पुरानी फिल्म पर काम करना चाहिए। इसके बाद सूरज ने ‘नदिया के पार’ (1982) की रीमेक बनाने का फैसला लिया, जो ‘हम आपके हैं कौन’ के रूप में सामने आई। सूरज ने जब ‘हम आपके हैं कौन’ पर काम शुरू किया, तब वो 24 साल के थे।

‘धिकताना-धिकताना’
सूरज बड़जात्या के पिता और राजश्री प्रोडक्शन के फाउंडर ताराचंद बड़जात्या को फिल्म का सॉन्ग ‘धिकताना-धिकताना’ इतना पसंद था कि वो इसे फिल्म का टाइटल भी बनाना चाहते थे।

स्क्रिप्ट सुन रो पड़े थे आलोक नाथ
जब सूरज बड़जात्या ने आलोकनाथ को फिल्म की स्क्रिप्ट सुनाई तो उनकी आंखें भर आई थीं। नाथ के मुताबिक, वो फिल्म से काफी रिलेट करते हैं। इसलिए अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पाए थे।

पैरालाइज हो गया था अनुपम खेर का चेहरा
फिल्म में अनुपम खेर ने एक सीन में शोले के वीरू (धर्मेंद्र) का एक्ट किया था। सीन की शूटिंग के दौरान उनका चेहरा लगभग पैरालाइज हो गया था। यही वजह है कि पासिंग द पार्सल गेम में उन्होंने धर्मेंद्र की मिमिक्री की थी।

14 सॉन्ग्स, टू वेडिंग्स एंड अ फ्यूनरल
1998 में लंदन बेस्ड एक थिएटर कंपनी ने ‘हम आपके हैं कौन’ की तर्ज पर एक शो परफॉर्म किया था, जिसका नाम था ’14 सॉन्ग्स, टू वेडिंग्स एंड अ फ्यूनरल। यह शो करीब एक साल तक चलता रहा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button