नमस्कार! हमारे न्यूज वेबसाइट डेली झारखण्ड में आपका स्वागत है, खबर और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 9939870087. हमारे फेसबुक, ट्विटर को लाइक और फॉलो/शेयर जरूर करें।
Breakingझारखण्ड

अपराधियों ने आजसू जिला अध्यक्ष के भाई की गाड़ी से उड़ाए 2.80 लाख रुपए

रामगढ़। बैंकों के आसपास शातिर अपराधी और उचक्के इस ताक में रहते हैं कि वे पैसे निकाल कर बाहर निकल रहे लोगों को अपना शिकार बना सकें। शनिवार को आजसू पार्टी के जिला अध्यक्ष दिलीप दांगी के छोटे भाई रमेश कुमार ही अपराधियों के शिकार बन गए। अपराधियों ने उनकी वैगनआर कार का शीशा तोड़कर 2.80 लाख रुपए उड़ा लिए। इस वारदात ने रामगढ़ जिला पुलिस प्रशासन के होश उड़ा दिए। खबर मिलते ही रामगढ़ थाना प्रभारी रोहित कुमार, सब इंस्पेक्टर रोशन कुमार, सुमित पांडे, एसआई दिनेश तिवारी मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी।

इस मामले में रामगढ़ थाना प्रभारी रोहित कुमार ने बताया कि भदानीनगर ओपी क्षेत्र के चिकोर गांव निवासी रमेश कुमार शनिवार की दोपहर बैंक ऑफ बड़ौदा की रामगढ़ शाखा से 2.80 लाख रुपए निकाले थे। उन्होंने रुपयों से भरा बैग अपनी वैगन आर कार (जे एच 02 एएम 2833) में रख कर उसे वी बाजार के पास पार्क कर दिया। किसी काम से रमेश कुमार फिर एचडीएफसी बैंक में चले गए। इस दौरान उनका दोस्त कमलेश शर्मा कार के पास ही मौजूद थे। कमलेश शर्मा की नजर कार से जैसे ही हटी, घात लगाए शातिर अपराधियों ने वैगनआर का शीशा तोड़ दिया। इसके बाद रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए। कमलेश शर्मा ने जब देखा कि कार का शीशा टूटा हुआ है तो तत्काल रमेश कुमार को इसकी सूचना दी। इसके बाद आनन-फानन में रमेश कुमार ने पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी।

हिताची एटीएम में डालने के लिए निकाले गए थे रुपए

रमेश कुमार ने पुलिस को बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा से निकाली गई रकम भुरकुंडा बोतल मोड़ के पास स्थित हिताची कंपनी के एटीएम में डालने के लिए निकाले गए थे। उन्होंने बताया कि हिताची कंपनी का फ्रेंचाइजी उनके पास है। भुरकुंडा इलाके में एटीएम की कमी होने की वजह से निजी कंपनी का वह एटीएम वहां लगाया गया है। उसमें सभी बैंकों के कार्ड स्वैप किए जाते हैं। इसकी जानकारी सभी बैंकों के पदाधिकारियों को भी है।

सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

अपराधियों को पकड़ने के लिए रामगढ़ थाना पुलिस अब सीसीटीवी खंगाल रही है। बैंक ऑफ बड़ौदा में लगे सीसीटीवी से इस बात का पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि रमेश कुमार के आस-पास कौन-कौन लोग मौजूद थे। रुपए निकालने के बाद कौन उनके पीछे निकला था। इसके अलावा बैंक के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज से भी अपराधियों की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button